ज़िंदगी थमती नही ……

ज़िंदगी थमती नही …
किसी के जाने से …
महज़ अरमान बदल जाते है …
किसी के यूं खो जाने से ………

हां यह सच है …
ज़िंदगी हसीन होजाती है …
दुआ कुबूल होजाने से …

पर कश्ती डग-मगा जाती है …
किसी अपने के सो जाने से …

कहने को तो …
सिर्फ एक इंसान जाता है हमे छोड़ कर …
पर
बेजान होजती है ज़िंदगी
मा बाप के खो जाने से …

काश…
हम भी कही खो जाए…
कही दूर …
अपनो के जाने से …

पर ज़िंदगी का दस्तूर ही यही है …
ज़िंदगी थमती नही किसी के जाने से …

image

Yogesh Ojha

We are providing the best content out of the box.